Poem On Love In Hindi

Poem On Love In Hindi

Poem On Love In Hindi

Poem On Love In Hindi by our Guest Writer Hemangi Sharma. Very heart touching poem. One can feel the love and true feelings conveyed by the poet in this poem. I am sure it will remind you of some of the wonderful times spent with your loved ones. Hope you like the poem.

तेरे पास ही हूं।
तेरी बातो में,शब्दो में,मौन में,
मै ही हूं,तेरे पास ही हूं।
तेरे कमरे मे आती सुबह की सूरज की हर एक किरण में,
मै ही हूं,तेरे पास ही हूं।
चाय के कप से निकलते धुंए की गर्म भाप में,
मै ही हूं,तेरे पास ही हूं।
बरसते बादलो की हर बूंद में लिपटी ठंडक में,
मै ही हूं,तेरे पास ही हूं।
बारिश से भीगी हुई मिट्टी की खूशबू में,
मै ही हूं,तेरे पास ही हूं।
शाम के आसमान पर सजी सिंदूरी चूनर में,
मै ही हूं,तेरे पास ही हूं।
रात मे बिस्तर पर सजे तकिये की नर्म नर्म गोद में,
मै ही हूं,तेरे पास ही हूं।
अब और तो क्या बताउं!
जब तुम सांस भरते हो उस हर सांस की हर एक आहट में,
मै ही हूं,तेरे पास ही हूं।

Poems You May Like To Read

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *